An effort to spread Information about acadamics

Blog / Content Details

विषयवस्तु विवरण



पाठ - 11 'प्राण जाए पर वृक्ष न जाए' अभ्यास (प्रश्नोत्तर एवं व्याकरण) | 8th Hindi, Path 11 Pran Jaye par Vriksha N Jaye

शब्दार्थ-
घटती संख्या = कम होती संख्या;
पर्यावरण = चारों ओर का वातावरण;
अंधाधुन्ध = बिना सोचे-विचारों;
वृक्षारोपण = पेड़- पौधे लगाना;
प्रेरणा = उत्साहपूर्ण तीव्र इच्छा;
अद्भुत = अनैखी;
बिगड़ते = खराब होते;
प्रदूषण = बहुत तीव्रता से फैलते हुए दोष;
प्रासंगिक = उचित;
विवेक = अच्छी तरह विचार करके;
आज्ञा पालन = आदेश का मानना;
बलिदान = त्याग;
नर-नारी = पुरुष और स्त्री;
रक्षा = बचाव;
आत्मबलिदान = अपने जीवन का त्याग;
तत्पर = तैयार;
कांटे = कट जाए;
झाड़ = वृक्ष;
स्मरण रहे = याद रखना होगा;
जरूरत = आवश्यकता;
दिन-प्रतिदिन = रोजना;
प्रदूषण = बड़ी मात्रा में दोष;
बचाने के लिए = रक्षा के लिए;
और = दूसरे;
लगाने होंगे = रोपने होंगे;
संकल्प = प्रतिज्ञा,प्राण;
वृक्षारोपण कार्य = वृक्ष लगाने का काम;
शहीद हुए = अपनी बलि देने वाले।

कक्षा 8 हिन्दी के इन 👇 पद्य पाठों को भी पढ़े।
1. पाठ 1 वर दे ! कविता का भावार्थ
2. पाठ 1 वर दे ! अभ्यास (प्रश्नोत्तर एवं व्याकरण)
3. उपमा अलंकार एवं उसके अंग
4. पाठ 6 'भक्ति के पद पदों का भावार्थ एवं अभ्यास

अभ्यास

बोध प्रश्न
प्रश्न 1. निम्नलिखित शब्दों के अर्थ शब्द कोष से खोजकर लिखिए-
उत्तर- रक्षक = रक्षा करने वाले;
ताम्रपत्र = तांबे का पत्तर,स्मृति पत्र;
श्रद्धांजलि = मरने के बाद श्रद्धा प्रकट करने हेतु व्यक्त शब्द;
संवध्र्दन = वृद्धि, विकास;
शहीद = बलिदान;
प्रशस्ति = प्रशंसा;
उत्कृष्ट = उच्च कोटि का।

प्रश्न 2. निम्नलिखित प्रश्नों के संक्षेप में उत्तर लिखिए- (क) सैनिकों की कुल्हाड़ी का सबसे पहले विरोध किसने किया?
उत्तर- सैनिकों की कुल्हाड़ी का सबसे पहले विरोध एक महिला अमृता देवी विश्नोई ने किया। कुल्हाड़ी चलाना आरंभ किए जाने पर अमृतादेवी विश्नोई पेड़ों से लिपट गई।
(ख) अमृता देवी का नारा क्या था?
उत्तर- पेड़ों से लिपटकर वह कहती रही“सिर सांटे पर रूख रहे तो भी सस्तो जाण”। यही अमृतादेवी का नारा था।
(ग) विश्नोई समाज की स्थापना किसने की थी?
उत्तर- विश्नोई समाज की स्थापना आज से लगभग पांच सौ वर्ष पहले सन 1485 ईस्वी में भगवान जंभेश्वर ने की थी।
(घ) हिरणों की रक्षा में कौन शहीद हुआ था।
उत्तर- सन् 1996 ईस्वी में अक्टूबर माह में राजस्थान के चूरू जिले में हिरणों की रक्षा करते हुए श्री निहालचंद्र विश्नोई शहीद हुए थे।
(ङ) राजा ने पेड़ काटने की क्या सजा घोषित की?
उत्तर- राजा अभयसिंह ने सैनिकों के दस्कृत्य के लिए क्षमा मांगी और ताम्रपत्र पर राजा की आज्ञा को जारी किया गया कि विश्नोई गांवों में कोई भी पेड़ नहीं कटेगा। यदि कटेगा तो राजदंड का भागी होगा।

प्रश्न 3. निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर विस्तार से लिखिए-
(क) जोधपुर के राजा अभयसिंह को लकड़ी की आवश्यकता क्यों पड़ी? इसके लिए उन्होंने क्या किया?
उत्तर- जोधपुर के राजा अभयसिंह ने अपना महल बनवाया। यह भादों का महीना एवं शुल्क पक्ष की दशमी का दिन था। इसके निर्माण के लिए राजा अभयसिंह को लकड़ी की आवश्यकता पड़ी। इसके लिए राजा अभयसिंह ने अपनी सेना के कुछ सैनिकों को लकड़ी काटकर लाने का आदेश दिया।इस तरह राजा के सैनिक जोधपुर के पास खेजड़ली गाँव पहुँचे। वहाँ वे पेड़ काटना चाहते थे।यह गाँव विश्नोइयों का था। विश्नोइयों ने कहा,“हम परम्परा से वनों के रक्षक हैं। हमारे रहते पेड़ नहीं कर सकते।”सैनिकों ने उनके विरोध की अनदेखी की। सैनिकों ने कुल्हाड़ी चला दी। अमृता देवी विश्नोई नामक महिला पेड़ों से लिपट गई और कहती रही,“ सिर सांटे पर रूख रहे तो भी सस्तो जाण।” राजा की आज्ञा का पालन करना है,इस भाव से सैनिकों ने अमृता देवी को काट डाला।

(ख) अमृता देवी वृक्षों की रक्षा और किस प्रकार से कर सकती थीं?सोचकर लिखिए।
उत्तर- राजा के आदेश से उनके सैनिक पेड़ काटने के लिए खेजड़ली गांव पहुंचे। राजा की आज्ञा का पालन करना उन सैनिकों का धर्म हो गया था। अमृता देवी वृक्षों की रक्षा के लिए उन्हें काटने से रोकने के लिए,सैनिकों से निवेदन कर सकती थीं तथा अपनी बात को राजा के पास जाकर विरोध के रूप में कह सकती थीं और पेड़ों के न काटने के लिए अपनी परंपरा को स्पष्ट रूप से बता सकती थीं।

(ग) अमृतादेवी का नारा इस पाठ में किस तरह सार्थक हुआ ?
उत्तर- अमृता देवी का नारा,“ सिर सांटे पर रूख रहे तो भी सस्तो जाण” सार्थक हो गया। पेड़ों की आवश्यकता हम लोगों को है, पेड़ों को हमारी आवश्यकता नहीं है। दिन-प्रतिदिन बढ़ते प्रदूषण से अपनी रक्षा के लिए हमें पेड़ लगाने होंगे और उनकी रक्षा करनी होगी। अमृता देवी और तीन सौ बासठ शहीदों के बलिदान की स्मृति में भारत सरकार प्रति वर्ष राष्ट्रीय पर्यावरण पुरस्कार देती है। मध्य प्रदेश का वन विभाग प्रति वर्ष वन-संवर्द्धन एवं वन रक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाली ग्राम पंचायत अथवा संस्था को शहीद अमृता देवी विश्नोई पुरस्कार और एक लाख रुपया नगद प्रदान करता है। मध्य प्रदेश सरकार शहीद अमृता देवी विश्नोई के नाम पर दो व्यक्तिगत पुरस्कार भी देती है। पचास हजार रुपया नकद और प्रशस्ति पत्र के पुरस्कार के रूप में वन सम्वर्द्धन और वन्य प्राणियों की रक्षा में उत्कृष्ट कार्य करने वाले व्यक्ति को प्रतिवर्ष दिए जाते हैं।

(घ) राजा अभयसिंह को पश्चाताप किस प्रकार किया?
उत्तर- जब जोधपुर के राजा अभयसिंह को विश्नोई समाज द्वारा किए गये बलिदान सम्बन्धी भीषण घटना का समाचार मिला तो उन्हें बड़ा दु:ख हुआ।वे स्वयं खेजड़ली गांव आए।अपनी सेना के द्वारा किए गये दुष्कृत्य लिए क्षमा मांगी। उन्होंने ताम्रपत्र जारी किया। उसमें राजाज्ञा जारी की गई कि विश्नोई गांवों में कोई पेड़ नहीं काटेगा। यदि काटेगा तो राजदंड का भागी होगा।इस प्रकार राजा के द्वारा निर्णय लिया गया और पश्चाताप किया गया।

(ङ) अमृता देवी व अन्य शहीदों से आपको क्या प्रेरणा मिलती है?
उत्तर- अमृता देवी व अन्य शहीदों से यह से प्रेरणा मिलती है कि हमें पर्यावरण की सुरक्षा के लिए वृक्षों और वनों को पूर्ण सुरक्षा देनी चाहिए।उनके सम्वर्द्धन और विकास में रुचि लेनी चाहिए। वन्य जीवों की सुरक्षा और उनकी प्रजातियों का विकास करना चाहिए। प्रत्येक राज्य विकास को वृक्षारोपण और वन संपदा के विकास और सुरक्षा के लिए अपनी ओर प्रोत्साहन पुरस्कार घोषित किये जाने चाहिए। ग्राम पंचायतों को भी वृक्षों का आरोपण करने के लिए अभियान चलाने चाहिए।

प्रश्न 4. सही विकल्प चुनिए-
(क) विश्नोई समाज के नियम मुख्यतः आधारित थे-
(अ) प्रकृति के पोषण पर,
(आ) समाज की परंपरा पर,
(इ) धर्म की मान्यता पर,
(ई) जीव-जंतुओं के प्रति करुणा पर,
(उ) इन सबके सम्मिलित प्रभाव वाली प्रथा पर।
उत्तर- इन सबके सम्मिलित प्रभाव वाली प्रथा पर।
(ख) मध्य प्रदेश सरकार किसके नाम पर दो व्यक्तिगत पुरस्कार देती है ?
(अ) विश्नोई समाज,
(आ) अमृता देवी विश्नोई,
(इ) निहालचंद विश्नोई,
(ई) शहीदों ।
उत्तर- अमृतादेवी विश्नोई
(ग) वृक्ष का पर्यायवाची शब्द है-
(अ) कानन,
(आ) तरु,
(इ) गिरि,
(ई) चक्षु।
उत्तर- तरु
(घ) अमृता देवी के साथ शहीद विश्नोइयों की संख्या थी-
(अ) 362,
(आ) 365
(इ) 363
(ई) 364
उत्तर- 362
(ङ) श्री निहार चंद्र विश्नोई को भारत सरकार ने सम्मानित किया-
(अ) पद्मश्री से,
(आ) शौर्य चक्र से,
(इ) परमवीर चक्र से,
(ई) वीर चक्र से।
उत्तर-शौर्य चक्र से

कक्षा 8 हिन्दी के इन 👇 पाठों को भी पढ़ें।
1. पाठ 2 'आत्मविश्वास' अभ्यास (प्रश्नोत्तर एवं व्याकरण)
2. मध्य प्रदेश की संगीत विरासत पाठ के प्रश्नोत्तर एवं भाषा अध्ययन
3. पाठ 8 अपराजिता हिन्दी (भाषा भारती) प्रश्नोत्तर एवं भाषाअध्ययन
4. पाठ–5 'श्री मुफ़्तानन्द जी से मिलिए' अभ्यास (प्रश्नोत्तर एवं भाषा अध्ययन)
5. पाठ 7 'भेड़ाघाट' हिन्दी कक्षा 8 अभ्यास (प्रश्नोत्तर एवं व्याकरण)
6. पाठ 8 'गणितज्ञ ज्योतिषी आर्यभट्ट' हिन्दी कक्षा 8 अभ्यास (प्रश्नोत्तर और व्याकरण)
7. पाठ 10 बिरसा मुण्डा अभ्यास एवं व्याकरण

भाषा-अध्ययन

प्रश्न 1. नीचे लिखे शब्दों के विलोम शब्द उनके नीचे बनी वर्ग पहेली(पाठ्यपुस्तक में)में दिए गए हैं।आप उन्हें खोजकर लिखिए -
उत्तर- 1.वाचाल-मूक
2. राजा-रंक
3. अपमानित-सम्मानित
4. भक्षक-रक्षक
5. हर्ष-शोक
6. क्षम्य-अक्षम्य
7. हिंसा-अहिंसा
8. हित-अहित
9. दुःखी-सुखी
10. विरोध-समर्थन।

प्रश्न 2. निम्नलिखित शब्दों के शुद्ध उच्चारण कीजिए और उन्हें वाक्यों में प्रयोग कीजिए।
श्रद्धांजलि, संकल्प, शौर्यचक्र, प्रासंगिक, जंभेश्वर।
उत्तर- विधार्थी उपयुक्त शब्दों को ठीक-ठीक पढ़कर उनका शुद्ध उच्चारण करने का अभ्यास करें।
वाक्यों में प्रयोग-(1) महापुरुषों के नियमों का पालन करना ही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होती है।
(2) हम देश की सेवा करने का संकल्प लेते हैं।
(3) निहाल चंद को मरणोपरांत शौर्य चक्र से सम्मानित किया ।
(4)अमृता देवी का वृक्ष संरक्षण कार्यक्रम आज बहुत ही प्रासंगिक है।
(5) जंभेश्वर भगवान ने प्रकृति के नियमों के पालन का आदेश दिया।

प्रश्न 3. निम्नलिखित शब्दों की संधि विच्छेद कीजिए और संधि का प्रकार लिखिए-
वृक्षारोपण, एकमेव, राजाज्ञा, मरणोपरांत, वातावरण।
उत्तर-
शब्द ............ संधि विच्छेद ... संधि का प्रकार
(1) वृक्षारोपण - वृक्ष + आरोपण - स्वर संधि
(2) एकमेव ..... एकम् + एव ...... स्वर संधि
(3) राजाज्ञा ..... राजा + आज्ञा .... स्वर संधि
(4) मरणोपरांत - मरण + उपरांत .. स्वर संधि
(5) वातावरण .... वात + आवरण .. स्वर संधि

प्रश्न 4. निम्नलिखित शब्दों का समास विग्रह कीजिए-
ताम्रपत्र, राजदण्ड, प्रतिवर्ष, ग्राम पंचायत, शौर्य चक्र।
उत्तर-
समास पद – समास विग्रह – समास का नाम
(1) ताम्रपत्र – ताम्र का पत्र – तत्पुरुष
(2) राजदंड – राजा का दंड – तत्पुरुष
(3) प्रतिवर्ष – प्रत्येक वर्ष होने वाला – अव्ययी भाव
(4) ग्राम पंचायत – ग्राम की पंचायत – तत्पुरुष
(5) शौर्य चक्र – शौर्य का चक्र – तत्पुरुष

प्रश्न 5. निम्नलिखित शब्दों में उपसर्ग पहचान कर लिखए-
ग़ैर सैनिक, पर्यावरण, सम्मान, प्रशस्ति, प्रदूषण, संवर्द्धन।
उत्तर- पूर्ण शब्द ........ उपसर्ग + शब्द
ग़ैर सैनिक ........ ग़ैर + सैनिक
पर्यावरण ......... परि + आवरण
सम्मान ......... सम् + मान
प्रशस्ति ......... प्र + शस्ति
प्रदूषण ......... प्र + दूषण
संवर्द्धन ......... सं + वर्द्धन

प्रश्न 6. निम्नलिखित वाक्यों में उद्देश्य और विधेय छाँटकर लिखिए-
(क) भगवान जंभेश्वर द्वारा हरे-भरे वृक्षों को बनाए रखने की प्रेरणा दी गई थी।
उद्देश्य .................... विधेय
भगवान जंभेश्वर ....... द्वारा हरे-भरे वृक्षों को बनाए रखने की प्रेरणा दी गई थी।
(ख) विश्नोई समाज ने वनों की रक्षा के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया है।
उद्देश्य................ विधेय
विश्नोई समाज..... ने वनों की रक्षा के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया है।
(ग) भारत शासन प्रतिवर्ष राष्ट्रीय पुरस्कार देता है।
उद्देश्य............. विधेय
भारत शासन.... प्रतिवर्ष राष्ट्रीय पुरस्कार देता है।

हिन्दी व्याकरण के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़िए।।
1. व्याकरण क्या है
2. वर्ण क्या हैं वर्णोंकी संख्या
3. वर्ण और अक्षर में अन्तर
4. स्वर के प्रकार
5. व्यंजनों के प्रकार-अयोगवाह एवं द्विगुण व्यंजन
6. व्यंजनों का वर्गीकरण
7. अंग्रेजी वर्णमाला की सूक्ष्म जानकारी

आशा है, उपरोक्त पाठ विद्यार्थियों के लिए ज्ञानवर्धक एवं परीक्षापयोगी होगी।
धन्यवाद।
RF Temre
infosrf.com

I hope the above information will be useful and important.
(आशा है, उपरोक्त जानकारी उपयोगी एवं महत्वपूर्ण होगी।)
Thank you.
R F Temre
infosrf.com


Watch related information below
(संबंधित जानकारी नीचे देखें।)



  • Share on :

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पाठ-17 वसीयतनामे का रहस्य कक्षा 8 विषय हिन्दी विशिष्ट | गद्यांशों की संदर्भ प्रसंग सहित व्याख्या सम्पूर्ण अभ्यास व भाषा अध्ययन | Vasiyatname ka rahasya

इस भाग में पाठ-17 वसीयतनामे का रहस्य (सम्पूर्ण पाठ) कक्षा 8 विषय हिन्दी विशिष्ट के गद्यांशों की संदर्भ प्रसंग सहित व्याख्या के साथ सम्पूर्ण अभ्यास व भाषा अध्ययन की जानकारी दी गई है।

Read more

विषय - हिन्दी कक्षा 8th बोर्ड परीक्षा हल प्रश्न-पत्र (उत्तर सहित) वर्ष 2023 | Class 8th Hindi Vishist Bord Pariksha Solved Question Paper 2023

इस भाग में कक्षा 8वीं के विगत वर्ष 2023 की बोर्ड वार्षिक परीक्षा के हिन्दी के हल प्रश्न पत्र दिया गया है।

Read more

Class 8th हिन्दी प्रोजेक्ट वर्क (हल सहित) वार्षिक परीक्षा 2024 | 5 Solved Hindi Project Works

इस भाग में राज्य शिक्षा केंद्र के दिशा निर्देशानुसार वर्ष 2023-24 की वार्षिक परीक्षा हेतु हिन्दी विषय के लिए निर्देशित है कोई दो प्रोजेक्ट वर्क हल करने हेतु दिया गया है। यहाँ पर पांँच सुझावात्मक प्रोजेक्ट वर्क हल सहित दिए गए हैं।

Read more

Follow us

Catagories

subscribe