An effort to spread Information about acadamics

Blog / Content Details

विषयवस्तु विवरण



भारत में शक राजतन्त्र - प्रमुख शासक (भारतीय इतिहास) | Shaka ruler (Indian History)

  • BY:RF Temre
  • 0

शकों का मूल निवास सीरिया था। ये बोलन दर्रे से भारत में आए थे। शकों को 'सीथीयन' भी कहा जाता है। ये पाँच शाखाओं में विभाजित थे-
1. अफगानिस्तान में
2. पंजाब में (राजधानी- तक्षशिला)
3. मथुरा में
4. पश्चिमी भारत में
5. ऊपरी दक्कन में

The original abode of the Shakas was Syria. They came to India from Bolan Pass. The Shakas are also called 'Scythian'. These were divided into five branches-
1. In Afghanistan
2. In Punjab (Capital- Taxila)
3. In Mathura
4. In Western India
5. Upper Deccan

इस वंश के अंतर्गत पश्चिमी क्षत्रपों में क्षहरात वंश का नहपान और कादर्मक वंश का रुद्रदामन सबसे प्रसिद्ध शासक थे। नहपान ने नासिक और रुद्रदामन ने उज्जैन पर शासन किया।

The most famous rulers under this dynasty were the Nahapana of the Kshaharat dynasty and Rudradaman of the Kadarmak dynasty among the western satraps. Nahapana ruled Nashik and Rudradaman Ujjain.

इन 👇एतिहासिक महत्वपूर्ण प्रकरणों को भी पढ़ें।
1. मौर्य साम्राज्य प्राचीन भारत का गौरवशाली इतिहास
2. पाटलिपुत्र (मगध साम्राज्य) पर शुंग वंश का शासन
3. भारत का प्राचीन इतिहास - कण्व वंश
4. प्राचीन भारत का आन्ध्र सातवाहन वंश
5. भारत में हिन्द-यवन वंश का शासन
6. गुप्त साम्राज्य का इतिहास जानने के स्रोत
7. गुप्त शासक श्रीगुप्त, घटोत्कच और चंद्रगुप्त प्रथम

प्रमुख शक शासक निम्नलिखित हैं-
मोगा/माउस- यह तक्षशिला के प्रमुख शासकों में से एक है। इसे प्रथम शक शासक कहा जाता है। इसके अनेक सिक्के प्राप्त हुए हैं।

The main Saka rulers are-
Moga/Mouse- This is one of the prominent rulers of Taxila. It is said to be the first Shaka ruler. Many coins of this have been found.

नहपान- यह महाराष्ट्र के पश्चिमी क्षेत्र का शक शासक था। यह क्षहरात वंश से संबंधित था। यह इतिहास का प्रसिद्ध राजा है। गौतमीपुत्र शातकर्णि ने इसे पराजित किया था। नहपान के सिक्कों में उसे 'राजा' कहा गया है। उसके सिक्के अजमेर से नासिक तक प्राप्त हुए हैं।

Nahapana- This was the Saka ruler of the western region of Maharashtra. It belonged to the Kshahrat dynasty. This is the famous king of history. It was defeated by Gautamiputra Shatakarni. He is referred to as 'King' in Nahapan coins. His coins have been found from Ajmer to Nashik.

रुद्रदामन प्रथम- यह सर्वाधिक प्रसिद्ध शक शासक है। इसने 130 ईस्वी से 150 ईस्वी तक शासन किया। इसने सिंध, कोंकण, नर्मदा घाटी, मालवा, काठियावाड़ और गुजरात के एक विस्तृत क्षेत्र में शासन किया। रुद्रदामन ने गुजरात में अवस्थित सुदर्शन झील का पुनर्निर्माण करवाया। इस झील का निर्माण मौर्य काल में हुआ था। तत्कालीन समय में सौराष्ट्र का शासक सुविशाख था। रुद्रदामन संस्कृत विषय का बड़ा प्रेमी था। सर्वप्रथम उसने ही विशुद्ध संस्कृत भाषा में जूनागढ़ अभिलेख जारी किया।

Rudradaman I- This is the most famous Saka ruler. It ruled from 130 AD to 150 AD. It ruled over a wide area of ​​Sindh, Konkan, Narmada Valley, Malwa, Kathiawar and Gujarat. Rudradaman rebuilt Sudarshan Lake located in Gujarat. This lake was formed during the Maurya period. At that time the ruler of Saurashtra was Suvisakh. Rudradaman was a great lover of Sanskrit subject. He was the first to issue Junagarh inscription in pure Sanskrit language.

इन 👇एतिहासिक महत्वपूर्ण प्रकरणों को भी पढ़ें।
1. सिकंदर का भारत पर आक्रमण- इसके कारण एवं प्रभाव
2. जैन धर्म के 24 तीर्थंकर एवं महावीर स्वामी की पारिवारिक जानकारी
3. बौद्ध धर्म एवं बुद्ध का जीवन परिचय
4. मगध साम्राज्य का इतिहास | The Magadh Empire time period

अंतिम शक शासक रूद्रसिंह तृतीय था। गुप्त शासक चंद्रगुप्त द्वितीय 'विक्रमादित्य' ने उसे पराजित कर दिया। इसके पश्चात् पश्चिमी क्षेत्रपों के राज्य को गुप्त साम्राज्य में मिला लिया गया।

The last Shaka ruler was Rudra Singh III. The Gupta ruler Chandragupta II 'Vikramaditya' defeated him. After this the kingdom of the western regions was merged with the Gupta Empire.

इन 👇एतिहासिक महत्वपूर्ण प्रकरणों को भी पढ़ें।
1. वैदिक सभ्यता- ऋग्वैदिक काल
2. मध्यप्रदेश का प्राचीन इतिहास
3. भारत का इतिहास- बुद्ध के समय के प्रमुख गणराज्य (गणतंत्र)
4. भारत का प्राचीन इतिहास-;जनपद एवं महाजनपद
5. भारत का प्राचीन इतिहास-;जनपद एवं महाजनपद

आशा है, परीक्षार्थियों के लिए यह जानकारी बहुत महत्वपूर्ण एवं उपयोगी होगी।
धन्यवाद।
RF Temre
infosrf.com



  • Share on :

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

  • BY: ADMIN
  • 0

बंगाल का सेन वंश- विजयसेन, बल्लालसेन और लक्ष्मण सेन | Sen dynasty of Bengal- Vijayasena, Ballalsen and Lakshmana Sen

भारतवर्ष के बंगाल से पाल वंश का पतन होने के बाद सेन राजवंश के शासकों का शासन आरंभ हुआ। यह बंगाल का महत्वपूर्ण राजवंश है।

Read more
  • BY: ADMIN
  • 0

बंगाल का पाल वंश- गोपाल, धर्मपाल, देवपाल, महिपाल प्रथम, रामपाल | Pala dynasty of Bengal- Gopal, Dharmapala, Devapala, MahipalaI, Rampal

पाल शासकों का शासन संपूर्ण बंगाल, कन्नौज और बिहार में विस्तृत था और सीमाएंँ खाड़ी से लेकर दिल्ली तक एवं जालंधर से लेकर विंध्य पर्वत तक फैली हुई थीं।

Read more

Follow us

Catagories

subscribe