An effort to spread Information about acadamics

Blog / Content Details

विषयवस्तु विवरण



बालविकास के अध्ययन में ध्यान रखे जाने वाली मुख्य बातें।
The main things to be kept in mind in the study of child development

(1) बालक के जन्म से पूर्व एवं जन्म के बाद से परिपक्व होने तक बालक में होने वाले परिवर्तनों की प्रकृति क्या है?

(What is the nature of changes that occur in a child before the child is born and after birth?)

(2) बालक में होने वाले परिवर्तनों का उसके आयु के साथ किस प्रकार का संबंध होता है?

(What kind of relationship does the child have with his age?)

(3) आयु के साथ होने वाले परिवर्तनों का स्वरुप क्या होता है?

(What is the nature of changes with age?)

(4) बालक में होने वाले परिवर्तनों के लिए कौन- कौन से कारक उत्तरदायी होते हैं?

(What factors are responsible for changes in the child?)

(5) बालक में समय-समय पर होने वाले उपयुक्त परिवर्तन उसके व्यक्तित्व एवं व्यवहार को किस प्रकार प्रभावित करते हैं?

(How do appropriate changes in a child affect his personality and behavior from time to time?)

(6) क्या बालक के जीवन में घटित या हुए परिवर्तनों के आधार पर बालक के भविष्य में होने वाले परिमाणात्मक एवं गुणात्मक परिवर्तनों की भविष्यवाणी की जा सकती है?

(Can quantitative and qualitative changes in the future of a child be predicted based on the changes or changes in the child's life?)

(7) क्या सभी बालक को में वृद्धि एवं विकास संबंध परिवर्तनों का स्वरूप एक समान होते हैं या व्यक्तिगत विभिन्नता के अनुसार इसमें अंतर होता है?

(Are the patterns of growth and development in each child the same as the changes or it varies according to individual variation?)

(8) क्या बालक में पाई जाने वाली व्यक्तिगत विभिन्नताएँ उसके आनुवांशिक एवं परिवेश जन्य परिस्थिति से प्रेरित होती है?

(Are the individual variations found in a child motivated by his genetic and environmental conditions?)

(9) बालक के गर्भ में आने के बाद निरंतर प्रगति होती रहती है। इस प्रगति का विभिन्न आयु एवं आवस्था के दौरान क्या स्वरूप होता है?

(After the child is in the womb, there is constant progress. What is the nature of this progress during different ages and ages?)

(10) बालक की आदत, रुचि, दृष्टिकोण, जीवन मूल्य, स्वभाव तथा उच्च व्यक्तित्व एवं व्यवहार आदि में जन्म के समय से ही सदैव परिवर्तन आते रहते हैं। उनका विभिन्न आयु वर्ग एवं अवस्था में क्या स्वरूप होता है तथा उस परिवर्तन की प्रक्रिया की प्रकृति क्या होती है?

(Changes in the habit, interest, attitude, life value, temperament and high personality and behavior etc. of a child are always changing from birth. What is their nature in different age groups and condition and what is the nature of the process of that change?)

RF competition
INFOSRF.COM

I hope the above information will be useful and important.
(आशा है, उपरोक्त जानकारी उपयोगी एवं महत्वपूर्ण होगी।)
Thank you.
R F Temre
infosrf.com

Watch video for related information
(संबंधित जानकारी के लिए नीचे दिये गए विडियो को देखें।)

Watch related information below
(संबंधित जानकारी नीचे देखें।)



  • Share on :

Comments

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बहुआयामी बुद्धि (Multi-Dimensional Intelligence) किसे कहते हैं | बहुआयामी बुद्धि सिद्धांत | बहुआयामी बुद्धि से लाभ

इस लेख में शिक्षक चयन परीक्षाओं की तैयारी हेतु बालविकास एवं शिक्षाशास्त्र के अंतर्गत बहुआयामी बुद्धि क्या होती है इसके बारे में विस्तार के साथ जानकारी दी गई है।

Read more

सौन्दर्य विकास (aesthetic development) क्या है? | सौन्दर्य विकास के सिद्धांत, लक्ष्य, विषय क्षेत्र, पाठ्यचर्या एवं गतिविधियाँ | सौन्दर्य विकास को प्रभावित करने वाले कारक

इस लेख में सौन्दर्य विकास (aesthetic development) क्या है? सौन्दर्य विकास के सिद्धांत, लक्ष्य, विषय क्षेत्र, पाठ्यचर्या एवं गतिविधियाँ और सौन्दर्य विकास को प्रभावित करने वाले कारकों के बारे में जानकारी दी गई है।

Read more

सृजनात्मक विकास (Srijnatmak Vikas) क्या है? | सृजनात्मकता (Rachanashilta) का महत्व | बच्चों की रचनाशीलता को प्रभावित करने वाले कारक

इस लेख में सृजनात्मक विकास क्या है? बालकों में इसके विकास का महत्व, बालक के सृजनात्मक विकास को प्रभावित करने वाले कारकों के बारे में विस्तार के साथ जानकारी दी गई है।

Read more

Follow us

Catagories

subscribe